ये है भारत का सबसे अमीर गांव, खेती करके करोड़पति बन गए किसान

Google News Button

कृषि बिलकुल भी कोई आय नहीं उत्पन्न करती, जिसके कारण किसान परिवार गरीबी में जीने को मजबूर होते हैं। हालांकि, आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हमारे देश में ऐसा एक गांव है जो कृषि पर आधारित दुनिया का सबसे धनी गांव बन गया है।

इस गांव का नाम मदवाग है, जो हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मदवाग गांव में साल भर भरते रहते हैं स्वादिष्ट और रसीले सेब, जो उत्कृष्ट गुणवत्ता के होते हैं।

मदवाग गांव के लोग सेबों के उत्पादन और बिक्री से धन कमाते हैं, जिनमें से अधिकांश लोग मिलियनेयर किसान हैं।

Read More-राजस्थान छात्रा प्रोत्साहन योजना 2023 : सरकार दे रही है 40000 रूपये आपको बस एक फॉर्म भरना है!

मदवाग गांव, सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि एशिया में भी, किसान परिवारों की वार्षिक आय 35 से 80 लाख रुपये के बीच होने के कारण सबसे धनी गांव घोषित किया गया है। इस गांव में साधारण घर नहीं हैं, बल्कि यहां हर घर बहुत आलीशान है और घर के बाहर लक्जरी कार पार्क की जाती है।

इस गांव में कुल 230 परिवार रहते हैं, जबकि यहां सभी सेब की खेती करते हैं और इसके लिए नई और हाई-टेक तकनीकों का उपयोग करते हैं। मदवाग गांव में उगाए जाने वाले सेब इतनी उच्च गुणवत्ता के होते हैं कि वे तत्काल उखाड़े जाते ही बड़े मात्रा में बिक जाते हैं, जिन्हें पर्यटक खरीदते हैं और अपने घर ले जाते हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

शुरुआत में, मदवाग गांव के किसान सेब नहीं बल्कि आलू उगाते थे। हालांकि, 1953 में, एक किसान नामक चैयान राम मेहता ने गांव में एक सेब बाग बनाया, जिसके बाद अन्य किसानों को भी सेब उगाने के लिए प्रेरित किया गया।

इस प्रकार, 1980 के दशक तक, मदवाग गांव के अधिकांश किसानों ने सेब उगाना शुरू कर दिया था, जहां विभिन्न प्रकार के सेब उगते थे। लेकिन मदवाग गांव को 2000 ईसवी में वास्तविक पहचान मिली, जब मदवाग के सेबों की मांडियों में मांग बढ़ने लगी।

पोस्ट का नामअमीर गांव
व्हाट्सएप ग्रुपयहां से जॉइन करें
टेलीग्राम ग्रुपयहां से जॉइन करें
अन्य जानकारीयहां से देखें
अमीर गांव

Leave a Comment