भांजी की शादी में 81 लाख कैश, 30 लाख के प्लाट, 16 बीघा खेत और 41 तोला सोने सहित 3 करोड़ रुपये खर्च किए

Google News Button

Rajasthan Nagore Wedding:शादी समारोहों में धन का खर्च एक आम बात है, लेकिन राजस्थान के नागौर जिले में एक मामा ने अपनी भांजी की शादी में बेहतरीन खर्च करते हुए लगभग 3 करोड़ 21 लाख रुपये खर्च किए हैं। नाना भंवरलाल गरवा ने अपनी नातिन अनुष्का को शादी के मौके पर बहुत सारी सुविधाएं दी हैं।

शादी के लिए, नाना भंवरलाल गरवा ने अपनी नातिन को 81 लाख रुपये कैश दिए हैं, जिसमें वह अपनी इच्छित चीजों को खरीद सकती हैं। इसके अलावा, नागौर के रिंग रोड पर 30 लाख के प्लॉट, 16 बीघा खेत, 41 तोला सोना, 3 किलो चांदी, एक नया ट्रैक्टर-ट्रॉली धान से भरी हुई और एक स्कूटी भी दी गई हैं यह समारोह नाना भंवरलाल गरवा के लिए एक अत्यंत खुशी का मौका था।

Rajasthan Nagore Wedding

एक शादी नागौर जिले में हुई है, जो पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बनी हुई है। इस शादी में तीन मामा ने अपनी भांजी की शादी में 3 करोड़ 21 लाख रुपये खर्च किए। साथ ही, उन्होंने अपनी बहन को रुपयों से सजी ओढ़नी ओढ़ाई। यह मामला झाड़ेली गांव के जायल क्षेत्र में हुआ था।

शादी में घेवरी देवी और भंवरलाल पोटलिया की बेटी अनुष्का ने ढींगसरी के रहने वाले कैलाश से शादी की। इस अवसर पर, अनुष्का के नाना भंवरलाल गरवा ने अपने तीनों बेटों हरेंद्र, रामेश्वर और राजेंद्र के साथ करोड़ों रुपये का मायरा भरकर अपने बहन और भाई के रिश्ते को मजबूत बनाया।

इस शादी की खर्चे के बारे में समाचार पत्रों में खूब चर्चा हो रही है और लोग इस अत्यधिक खर्च को लेकर विभिन्न राय रख रहे हैं।

अपनी नातिन अनुष्का की शादी में नाना भंवरलाल गरवा ने बेशकीमती तोहफे दिए हैं। उन्होंने 81 लाख रुपये कैश, नागौर के रिंग रोड पर 30 लाख का प्लाट, 16 बीघा खेत, 41 तोला सोना, 3 किलो चांदी, नया ट्रैक्टर-ट्रॉली धान से भरी हुई और एक स्कूटी दी है। इन तोहफों से उनकी बेटी अनुष्का को बहुत खुशी मिली होगी। जब अनुष्का की नानी घेवरी देवी ने अपने पिता और भाइयों के इस सम्मान को देखा, तो उनके आंसू रुक नहीं पाए। राजस्थान के नागौर जिले में यह शादी खूब चर्चा में है और ये तोहफे इसे और भी यादगार बना दिया है।

राजस्थान में बहन के बच्चों की शादी के मौके पर ननिहाल पक्ष की तरफ से मायरा भरने की प्रथा होती है। यह भात भरने के रूप में जानी जाती है। इस रस्म में ननिहाल पक्ष बहन के बच्चों के लिए कपड़े, गहने, रुपये और अन्य सामान प्रदान करती है। इसके अलावा, बहन के ससुराल पक्ष के लोगों के लिए भी कपड़े और जेवरात उपलब्ध होते हैं।

भंवरलाल जी, घेवरी देवी के पिता, अपने पास करीब 350 बीघा उपजाऊ जमीन रखते हैं। उनके तीन बेटे हरेंद्र, रामेश्वर और राजेंद्र तथा घेवरी देवी उनकी इकलौती बेटी हैं। वह उन्हें एक बड़ा उपहार मानते हैं, जो ईश्वर ने उन्हें दिया है। बहन, बेटी और बहू के अलावा इस संसार में कोई बड़ा धन नहीं होता।

नाना रुपयों से भरी थाली लेकर नातिन अनुष्का के पास पहुंचे

Rajasthan Nagore Wedding

घेवरी देवी के पिता ने अपनी बेटी की शादी के लिए अपने सिर पर रुपयों की थाली रखकर टेंट में पहुंच गए। उनकी थाली में 81 लाख रुपये और एक सजी ओढ़नी जो 500 रुपये में खरीदी गई थी थी। साथ में, उन्होंने अपनी बेटी के लिए नागौर शहर में रिंग रोड के ऊपर 16 बीघा जमीन, 41 तोला सोना, 3 किलो चांदी के गहने और अनाज की बोरियों से भरी हुई एक नई ट्रैक्टर ट्रॉली और स्कूटी के कई गिफ्ट भी दिए। इससे मायरा के बारे में बातें होने लगीं। सोसाइटी और पंचायत के सदस्यों की मौजूदगी में, ननिहाल पक्ष ने जमीन के सभी डॉक्यूमेंट्स बेटी के परिवार को दे दिए।

Leave a Comment