DA Hike in July 2023: जुलाई खत्म होने से पहले ही आ गई DA पर खुशखबरी, केंद्रीय कर्मचारियों इस दिन बढ़ेगी सैलरी!

Google News Button

DA Hike in July 2023:केंद्रीय कर्मचारियों के लिए यह महीना बहुत महत्वपूर्ण है। सरकार इस महीने कर्मचारियों की सैलरी में वृद्धि करने जा रही है। अगर आप भी सातवें वेतन आयोग के तहत सैलरी प्राप्त कर रहे हैं, तो पहले जान लें कि आपकी सैलरी में वृद्धि कब होने वाली है।

DA Hike in July 2023 for Central Government Employees

DA Hike in July 2023

बिहार का शिक्षा विभाग है तो ‘मुमकिन’ है, 30 फरवरी को बच्चा पैदा हो गया

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है! अब आपके महंगाई भत्ते में इंतजार का अंत होने वाला है, क्योंकि आपकी सैलरी में बंपर इजाफा होने जा रहा है। सिर्फ 10 दिनों में, केंद्रीय कर्मचारियों के खाते में सैलरी ट्रांसफर हो जाएगी। इस बार सरकार कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में इजाफा करने की योजना बना रही है, जिसका डाटा 31 जुलाई को आने की संभावना है, और इसके बाद में पता चलेगा कि इस बार कर्मचारियों की सैलरी में कितनी वृद्धि होगी।

AICPI इंडेक्स जारी करता है आंकड़ा

AICPI के मुताबिक जारी आंकड़ों से साफ है कि DA में 4 फीसदी की बढ़ोतरी होगी. फिलहाल सरकार की ओर से आधिकारिक घोषणा के बाद ही पता चलेगा कि कर्मचारियों की मासिक सैलरी में कितनी बढ़ोतरी की जाएगी.

DA Hike in July 2023 बढ़ोतरी की घोषणा कब होगी?

फिलहाल कर्मचारियों को 42 फीसदी महंगाई भत्ता दिया जाता है. लेकिन फिलहाल इस भत्ते को 1 जुलाई 2023 से संशोधित किया जाएगा. मीडिया के मुताबिक, इस बार सरकार सितंबर या अक्टूबर में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की घोषणा कर सकती है.

ये है भारत का सबसे अमीर गांव, खेती करके करोड़पति बन गए किसान

इस बार भी महंगाई भत्ता 4 फीसदी बढ़ जाएगा

आपको बता दें कि अब तक जो आंकड़े सामने आए हैं उसके मुताबिक मोदी सरकार इस बार भी केंद्रीय कर्मचारियों के शानदार भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है. अभी तक साल की इस छमाही के लिए AICPI के आंकड़े आ चुके हैं और जल्द ही सरकार DA बढ़ाने के फैसले का ऐलान कर सकती है.

महंगाई भत्ता किस आधार पर बढ़ता है?

केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों ही महंगाई की दर को देखते हुए महंगाई भत्ते में वृद्धि करते हैं। महंगाई जितनी अधिक होगी, डीए में उतनी ही बढ़ोतरी होती है। जिसकी गणना श्रम ब्यूरो करता है, जिससे कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए महंगाई भत्ते और महंगाई राहत की दरें तय की जाती हैं। इसकी गणना कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI-IW) के आधार पर की जाती है।

अगर किसी सरकारी कर्मचारी की मौजूदा बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है तो उसे 42 फीसदी महंगाई भत्ता यानी 7,560 रुपये मिलता है. लेकिन अगर लागत भत्ता बढ़कर 46 फीसदी हो जाए तो महंगाई भत्ता 8,280 रुपये प्रति माह हो जाएगा. इस अनुमान के मुताबिक, महीने के दौरान सैलरी में 720 रुपये की बढ़ोतरी होगी.

Leave a Comment